Tuesday , May 21 2019
Breaking News

अगस्ता वेस्टलैंड मामले में मोदी सरकार की बड़ी कामयाबी, क्रिश्चियन मिशेल को आज लाया जाएगा भारत

Christian Mitchellदुबई। अगस्ता वेस्टलैंड वीवीआईपी हेलीकॉप्टर सौदा मामले में वांछित ब्रिटिश नागरिक क्रिश्चियन मिशेल को भारत को प्रत्यर्पित करने के लिए मंगलवार को दुबई अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा ले जाया गया। मिशेल 3600 करोड़ रुपये के वीवीआईपी हेलीकॉप्टर सौदा मामले में भारतीय जांच एजेंसियों का वांछित है। पिछले महीने अदालत ने उसके प्रत्यर्पण केलिएअनुमति प्रदान कर दी थी।

खलीज टाइम्स की एक खबर के अनुसार मिशेल (54) को दुबई अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा ले जाया गया है। यह प्रत्यर्पण प्रक्रिया इंटरपोल और सीआईडी के समन्वय में हो रही है। यह घटनाक्रम ऐसे दिन हुआ है जब विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने संयुक्त अरब अमीरात (uae) में अपने समकक्ष अब्दुल्ला बिन जायद से अबू धाबी में व्यापक बातचीत की।

मिशेल को मिले थे 225 करोड़
मिशेल के प्रत्यर्पण के लिए भारत ने औपचारिक रूप से 2017 में अनुरोध किया था. यह अनुरोध सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय की ओर से की गई आपराधिक जांच पर आधारित था। ईडी ने मिशेल के खिलाफ जून, 2016 में दाखिल अपने आरोप पत्र में कहा था कि मिशेल को अगस्ता वेस्टलैंड से 225 करोड़ रुपये मिले थे। आरोपपत्र के अनुसार यह राशि और कुछ नहीं बल्कि कंपनी की ओर से दी गयी ”रिश्वत” थी।

दुबई की अदालत ने कथित के प्रत्यर्पण का दिया था आदेश 
19 सितंबर की खबर के मुताबिक दुबई की एक अदालत ने 3,600 करोड़ रुपये के अगस्ता वेस्टलैंड वीवीआईपी हेलीकॉप्टर घोटाला मामले में कथित बिचौलिए एवं ब्रिटिश नागरिक क्रिश्चियन मिशेल के प्रत्यर्पण का आदेश दिया था। आधिकारिक सूत्रों ने 18 सिंतबर की देर शाम इसकी जानकारी दी थी। उन्होंने बताया कि कुछ समय पहले भारत ने इस मामले में सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय द्वारा की गई आपराधिक जांच के आधार पर खाड़ी देश से आधिकारिक तौर पर इस संबंध में आग्रह किया था, जिसके बाद 18 सिंतबर को अदालत ने यह फैसला दिया।

ईडी ने जून 2016 में मिशेल के खिलाफ दायर अपने आरोप-पत्र में आरोप लगाया था कि उसने अगस्ता वेस्टलैंड से करीब 225 करोड़ रुपये प्राप्त किए। ईडी ने कहा था कि यह पैसा और कुछ नहीं, बल्कि कंपनी द्वारा 12 हेलीकॉप्टरों के समझौते को अपने पक्ष में कराने के लिए वास्तविक लेन-देन के “नाम पर” दी गई “रिश्वत’’ थी।

सीबीआई और ईडी द्वारा जांच किए जा रहे मामलों में गुइदो हाश्के और कार्लो गेरोसा के अलावा मिशेल तीसरा कथित बिचौलिया है. अदालत द्वारा उसके खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी करने के बाद दोनों जांच एजेंसियों ने उसके खिलाफ इंटरपोल रेड कॉर्नर नोटिस जारी कर दिया था।

ChAgustaWestlandristian Mitchell

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.